इतिहास के पन्नों में 12 जूनः निर्वाचन अमान्य होने से हिल गईं इंदिरा गांधी

देश-दुनिया के इतिहास में 12 जून की तारीख तमाम अहम वजह से दर्ज है।यह तारीख ऐसी है जिसने भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के सिंहासन को हिला दिया था। इससे इंदिरा गांधी इस कदर घबरा गईं उन्होंने लोकतंत्र को कुचलते हुए देश में आपातकाल लगा दिया। ‘किस्सा कुर्सी का’ काला अध्याय 1975 में शुरू होता है। जून का महीना था। इस महीने में देश की आबोहवा इस कदर गर्म और तपिश से भरी होती है सब कुछ खौलने सा लगता है।

इस मौसम में देश की सियासत की तपिश इतनी अधिक थी कि उसने तापमान के चढ़ते पारे को पीछे छोड़ दिया। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 12 जून को इंदिरा गांधी को चुनाव में सरकारी मशीनरी के इस्तेमाल का दोषी ठहराते हुए उनके निर्वाचन को अमान्य करार दिया। यह मामला 1971 के लोकसभा चुनाव के सिलसिले में विपक्ष के नेता राजनारायण ने दाखिल किया और अदालत ने इंदिरा गांधी को चुनाव में अनुमति से ज्यादा धन व्यय करने और सरकारी संसाधनों के दुरुपयोग का दोषी पाया और उनके किसी भी राजनीतिक पद ग्रहण करने पर रोक लगा दी गई। यह अलग बात है कि यह फैसला अमल में नहीं आया और इसके बाद का घटनाक्रम आपातकाल के काले दौर का गवाह बना।

महत्वपूर्ण घटनाचक्र

1929: दूसरे विश्व युद्ध के दौरान नाजियों के जुल्म का शिकार बनी यहूदी लड़की एनी फ्रेंक का जन्म। नाजियों की कैद के दौरान लिखी गई एनी की डायरी को बाद में किताब के रूप में छापा गया।


1962: अमेरिका में सैन फ्रांसिस्को की खाड़ी में स्थित कड़ी सुरक्षा वाले कारागार एलकटराज से तीन कैदी भाग निकले। इस जेल को सुरक्षा के हिसाब से अकाट्य माना जाता था और यहां सबसे गंभीर अपराधों वाले कैदियों को रखा जाता था।

1964: अफ्रीका में रंगभेद के खिलाफ आंदोलन की अगुवाई करने वाले अश्वेत नेता नेल्सन मंडेला को सरकार के खिलाफ साजिश का दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई गई।

1975: इलाहाबाद हाई कोर्ट ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को चुनाव में सरकारी मशीनरी के गलत इस्तेमाल का दोषी पाया और उनके निर्वाचन को अमान्य करार दिया।

1987ः ब्रिटिश चुनाव में मार्गरेट थैचर की तीसरी बार ऐतिहासिक विजय।

1998ः भारत और पाकिस्तान को परमाणु परीक्षण के कारण जी-8 के देशों द्वारा ऋण नहीं देने का निर्णय।

1999ः पाकिस्तान के रक्षा बजट में लगभग 11 प्रतिशत की वृद्धि।

1999ः ईस्ट तिमोर ‘मिशन’ के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्वीकृति।

2001ः सीमा मुद्दे पर भारत-बांग्लादेश वार्ता शुरू।

2002: बालश्रम निषेध दिवस की शुरुआत। इस दिवस का मकसद लोगों में बालश्रम को लेकर जागरुकता फैलाना था।

2002ः स्वीडन के साथ मैच ड्रा होने के साथ ही अर्जेन्टीना विश्व कप फुटबाल से बाहर।

2004ः अमेरिकी राष्ट्रपति बुश ने उत्तरी कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जांग द्वितीय के साथ सीधी बातचीत का प्रस्ताव ठुकराया।

2007: ऑस्ट्रेलिया के स्कूलों में सिख छात्रों को धार्मिक प्रतीक कृपाण रखने की इजाजत मिली।

2007ः कनाडा में होने वाले जीव विज्ञान ओलम्पियाड में चार भारतीयों का चयन।

2008ः फिल्म निदेशक मृणाल सेन को 10वें ओसियाना सिनेफैन फिल्म समारोह में पुरस्कृत किया गया।

2016ः साइना नेहवाल ने दूसरी बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब जीता।

जन्म

1915ः कन्नड़ लेखक, नाटककार, निर्देशक, पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता सीके नागराज राव।

1932ः भारत में मेट्रो मैन के नाम से प्रसिद्ध इंजीनियर ई. श्रीधरन।

1949ः छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध भरतरी गायिका सुरुज बाई खांडे।

निधन

1972: महात्मा गांधी के जीवन पर आठ खंड का ग्रंथ लिखने वाले डीजी तेंदुलकर।

1976ः संस्कृत के विद्वान् और महान् दार्शनिक गोपीनाथ कविराज।

1989ः तुर्की के ओट्टोमन राजसी वंश की आखिरी शहजादी नीलोफर।

2017ः ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित तेलुगु भाषा के प्रख्यात कवि सी. नारायण रेड्डी।


महत्वपूर्ण दिवस

-विश्व बाल श्रम निषेध दिवस।

Related Articles

Back to top button