74वें गणतंत्र दिवस पर मुख्य सचिव ने अपने शासकीय आवास पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया

लखनऊ। 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने अपने शासकीय आवास पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया।

               अपने संबोधन में मुख्य सचिव ने उपस्थित सभी लोगों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनायें देते हुये कहा कि 26 जनवरी, 1950 को हमारा देश संविधान को अंगीकार कर गणतंत्र देश के रूप में संवैधानिक पद्धति देश के विकास के लिये करबद्ध हुआ था।

        उन्होंने कहा कि पिछले 73 वर्ष में तमाम सारे काम हुये हैं, जिनके लिये हर भारतीय को गर्व करना चाहिये। खासतौर पर पिछले 8-9 साल में अभूतपूर्व परिवर्तन आया है, ऐसी विकास की लहर आयी है, जिसने देश के हर नागरिक, हर संस्था को जोड़कर देश को विकसित करने और हर नागरिक को हर संभव सहायता उपलब्ध कराने पर ध्यान दिया गया है। हर नागरिक का बैंक खाता खोलना, हर परिवार को मकान, शौचालय, हर घर को बिजली, हर नागरिक को शिक्षा व स्वास्थ्य सहित तमाम सारी सुविधायें प्रदान की गई हैं, जिसके माध्यम से नागरिक अपनी क्षमता के मुताबिक अपने देश, प्रदेश, शहर व समाज के लिये बहुत ही अच्छा से अच्छा कार्य कर सकता है।

               उन्होंने कहा कि हमारे देश की सांस्कृतिक विरासत समृद्ध है। अलग-अलग भाषा, क्षेत्र, खानपान, वेषभूषा होने के बावजूद एक भारत श्रेष्ठ भारत है। उत्तर, दक्षिण, पूर्व, पश्चिम हर एक मिलकर एक भारत, एक संविधान, एक नागरिक व्यवस्था को अंगीकार करते हैं।

उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर उन तमाम सारे शहीदों, बलिदानियों को याद करने का मौका होता है, जिनकी वजह से देश को आजाद रूप में देख रहे हैं और गणतंत्र, संविधान, स्वराज्य के माध्यम से प्रशासन को प्राप्त कर रहे हैं। हमें उन तमाम सारे लोगों को जिनका इतिहास के पन्नों में नाम नहीं है, लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ बलिदान किया है, जिसकी वजह से स्वतंत्रता की सांस ले पा रहे हैं। अंतरिक्ष, समुद्र के भीतर, देश के कोने-कोने में विकास को हम संभव कर पा रहे हैं।

          उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया हमें श्रेष्ठ देश के रूप में देख रही है। ऐसे में हमारे प्रधानमंत्री जी ने लक्ष्य रखा है, जब हम आजादी का 100वां वर्ष मना रहे होंगे, हमारा देश विकसित देश होगा। यह गौरव का विषय है कि जी-20 देशों का नेतृत्व हमारा देश कर रहा है। विकसित देशों के समक्ष एक धरती, एक परिवार, एक भविष्य के लक्ष्य को लेकर देश में हर क्षेत्र में तमाम सारे काम हुये जो अविश्वसनीय हैं, उन्हें साझा करेगा। खुशी की बात है कि जी-20 की 200 बैठकों में से 11 बैठकें हमारे प्रदेश के 4 शहरों-गौतमबुद्ध नगर, आगरा, लखनऊ और वाराणसी में हो रही हैं। हमारा लक्ष्य विकसित देश बनने का है, इसलिये यह अच्छा मौका है जानने-समझने का कि विकसित देश में रहने वाले लोगों के अन्दर ऐसी क्या खासियत, खूबियां, कार्यव्यवहार या उपलब्धियां हैं, जिसकी वजह से विकसित हैं, तभी हम भी विकसित हो सकेगें।

               उन्होंने कहा कि भारत को विकसित देश बनाने के लिये देश के हर नागरिक को अपना योगदान देना होगा, अपनी क्षेत्र में श्रेष्ठता हासिल करनी होगी। उन्होंने सभी से अपेक्षा की कि वह श्रेष्ठ से श्रेष्ठतम स्तर तक जायें और देश, प्रदेश, शहर, गांव व समाज के लिये योगदान करें।

               इस अवसर पर प्रमुख स्टाफ आफिसर मुख्य सचिव अमृता सोनी, स्टाफ आफिसर डाॅ0 अनिल कुमार, राजेश कुमार, कृष्ण गोपाल सहित मुख्य सचिव कार्यालय व आवास का स्टाफ, स्काउट गाइड व एनसीसी के कैडेट्स व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button